×

Sorry, no results were found.

Categories

Random Quote

आप प्रेम हो या व्यवसाय, दान हो या क्रोध, सबकुछ आधे-अधूरे मन से ही करते हैं। ऐसे में आप निर्णायक परिणाम की अपेक्षा ही कैसे रख सकते हैं?



Be it love or business, charity or anger, when you do everything half heartedly, how can you expect a decisive result ?

Most Read