Time & Space


Categories

Archives

Random Quote

मनुष्य के मन की श्रेष्ठ स्थिति दो विरोधाभासों से ही संतुलित होती है। लेकिन हम बुद्धि के चक्कर में एक को अपनाने व दूसरे को छोड़ने के प्रयास में लग जाते हैं। हमारा अच्छा-बुरा, पाप-पुण्य सब इसी से परिभाषित है।



The best state of mind is balanced by two extremes. But we, driven by brain, try to embrace one and discard the other. It is this discrimanatory practice that has brought all our good – bad, sin – virtue into existence.

Most Read