Archive


26
Apr

अल्ला मेहरबान तो गधा पहलवान

  बात तो एकदम सही है। गधों पे अल्ला मेहरबान रहता ही है। क्योंकि गधा...[ read more ]

25
Apr

निर्णय करो दिल से कामयाब हो जाओगे।

  मनुष्य के पास तीन निर्णायक शक्ति होती है। एक तो उसकी आत्मा होती है...[ read more ]

24
Apr

कोई आपको क्यों समझे? आप अपने को समझ, लो काफी है

  यह भी हमारी बड़ी विचित्र कामना है। भला कोई हमें समझे ही क्यों? क्या...[ read more ]

Archives

Random Quote

क्या आपने कभी गौर किया कि मन के भीतर से जो कुछ भी आ रहा है, उसे रोकने में ही हम अपनी सर्वाधिक शक्ति का नाश कर देते हैं?



Have you ever noticed that our maximum loss of energy occurs when we try to restrain the flow of whatever that is coming from within?

Most Read