जनरल


Archives

Random Quote

प्रकृति में कोई भी स्वार्थ-भावना से नहीं जी रहा है। हम अपनी स्वार्थ-प्रवृत्ति के कारण ही प्रकृति से टूट चुके हैं।



In nature, no one is living with the feeling of selfishness. It is only due to our selfish acts that our ties with nature have been severed.

Most Read