Archive


Categories

Random Quote

‘आनंद’ सिर्फ उन कर्मों से उत्पन्न होता है, जिनका फल हाथोंहाथ मिलता है। ‘कर्म’ आज व ‘फल’ कल, ऐसे कर्मो से केवल सुख-दुःख उत्पन्न होते हैं।



‘Joy’ emanates only from those actions which bear fruits instantly. ‘Act’ today and ‘result’ tomorrow, such karmas can only impart pains and pleasures.

Most Read