February 6, 2015 9:30 am

जिसका विश्व जितना अधूरा-उतना ही वह दूसरों को अपने विश्व में समाने हेतु लालायित।

Q-18-(samay)-Hindi