January 26, 2015 9:30 am

यदि आप वाकई क्रोध के पागलपन और उसके विकृत स्वरूप जैसे- चिंता, व्यथा, भय इत्यादि से बचना चाहते हैं तो ‘क्रोध’ के पागलपन को ‘क्रोध’ की ऊर्जा में रूपांतरित होने दें।

Q-13-Hindi