Archive


27
Feb

मैं तो ठगा ही गया पर आप चेत सकते हो तो चेतो

  मैंने अभी-अभी शरीर छोड़ा है। पता नहीं मैं कहा पहुंच गया हूँ। पर जहां...[ read more ]

22
Feb

कहीं कृष्ण से भगवद्गीता कहते वक्त कोई चूक तो नहीं हुई है?

  वैसे तो कृष्ण सम्पूर्ण व्यक्तित्व के मालिक हैं। प्रेम, ज्ञान व ध्यान की तो...[ read more ]

Archives

Random Quote

क्या आप अपनी मन-रूपी धरती को स्थिर नहीं रख सकते? रख सकते हैं, यदि आप अपना ध्यान जीवन में आने वाले सुख-दुःखों से हटाकर मात्र अपने ‘‘होनेपन’’ पर स्थिर रख सकें।



Can’t you keep the soil of your mind firm? Yes you can, if you shift your focus from the pains and pleasures of life to your “being” and keep it steadfast there.

Most Read