Archive


Archives

Random Quote

आज पूरी मनुष्यजाति सिर्फ धन के आसरे व सहारे जी रही है। अब तो धन की इस अंधी दौड़ से धर्म, राजनीति व सामाजिक संस्थाएं भी पूरी तरह ओत-प्रोत हैं। ऐसे में आम-मनुष्य के पास धन बचे भी तो कैसे?



Today, the entire mankind swears and survives by the support of wealth only. Now, even religious, political and social institutes are deeply involved in this blind race of wealth. In such a case, how could any wealth be left for the common man?

Most Read