धर्म


30
Jan

कहते मुझे भगवान हो और समझते मूर्ख हो यह क्या बात हुई?

  मैं दुनिया का मालिक हूँ। आप जो-जो चीज अपनी बनाए बैठे हैं वे सारी-की-सारी...[ read more ]

Archives

Random Quote

जीवन में प्रसन्न रहने के लिये चैन के दो निवाले, गिरती बारिश या बहती हवायें ही पर्याप्त हैं। …जबकि दुःख के कारणों पर तो हजारों किताबें लिखी जा सकती हैं।



To be joyous in life, a few bites to eat in peace, pouring rains or cool breeze are sufficient… Whereas for reasons to be sad, you can write thousands of books on it.

Most Read